Plagiarism क्या होता है , Plagiarism को कैसे Check करें?

Plagiarism क्या होता है , Plagiarism को कैसे Check करें? – यदि आप कोई ब्लॉग या वेबसाइट चलाते हैं तो आपको यह जानना जरूरी है कि Plagiarism क्या होता है। Plagiarism को चेक करने के लिए इंटरनेट पर कई सारे टूल्स मौज हैं, उनमें से कई सर्विस फ्री हैं तो कई पेड सर्विस हैं। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि Plagiarism क्या होता है, Plagiarism कैसे चेक करते हैं और किसी भी वेबसाइट पर कॉपी कंटेंट डालने पर क्या नुकसान होता है। इन सभी चीजों के बारे में जानने के लिए आप इस आर्टिकल को जरूर डाऊनलोड करें।

Plagiarism क्या होता है
Plagiarism Kya Hota Hai

Plagiarism क्या होता है ?

Plagiarism का मतलब किसी भी कंटेंट को कॉपी करना होता है। Plagiarism शब्द का हिन्दी अर्थ है साहित्यिक चोरी। यदि आप किसी भी वेबसाइट से कंटेंट कॉपी करके अपने वेबसाइट पर डालते हैं तो आपके वेबसाइट पर कॉपीराइट क्लेम हो जाता है और आपका वेबसाइट बंद हो सकता है या गूगल आपकी वेबसाइट को सर्च इंजिन से हटा सकता है। इसके अलावा आपके वेबसाइट को गूगल एडसेंस वगैरह से भी हटाया जा सकता है।

Plagiarism के नुकसान

Plagiarism यानी किसी भी वेबसाइट से कंटेंट को कॉपी करके अपने वेबसाइट पर डालने से आपको कई नुकसान हो जाते हैं। अगर आप किसी की कंटेंट को कॉपी करके अपने वेबसाइट पर डालते हैं तो उस वेबसाइट का ओनर आपके ऊपर कानूनी कार्यवाही करवा सकता है। इसके अलावा गूगल भी आपके वेबसाइट को सर्च इंजिन से हटा सकता और अपने सभी वेबसाइट सर्विसेज के यूज से वंचित कर सकता है। अगर वेबसाइट ओनर चाहे तो आपकी वेबसाइट को हमेशा के लिए बंद करवा सकता है। अगर आप चाहते हैं कि आपके वेबसाइट पर Plagiarism का Error ना आए तो किसी भी वेबसाइट के कंटेंट को कॉपी ना करें। किसी भी वेबसाइट के कंटेंट से सिर्फ जानकारी लें और अपने वेबसाइट पर उसे अपने शब्दों में लिखें।

Plagiarism Error से कैसे बचें?

Plagiarism Error से बचने के लिए आप किसी भी वेबसाइट में लिखे गए कंटेंट को कॉपी ना करें या सेम टू सेम बिल्कुल ना लिखें। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको समस्या हो सकती है। जैसे यदि आपको किसी खास विषय पर कंटेंट लिखना है तो आप किसी अन्य वेबसाइट से जानकारी ले लें लेकिन उसे अपने शब्दों में लिखें। ऐसा करने से आपके वेबसाइट पर कभी भी Plagiarism नहीं आएगा।

फ्री टूल की मदद से Plagiarism कैसे चेक करें ?

Plagiarism चेक करने के लिए इंटरनेट पर बहुत सारे टूल मौजूद हैं, इनमें से कुछ फ्री हैं और कुछ पैसे डिमांड करते हैं। इनमें से सबसे अच्छा फ्री टूल है Duplichecker, जिसका उपयोग करना बहुत ही आसान है। Duplichecker वेबसाइट के जरिए आप सिर्फ वेबसाइट के लिंक को वहाँ पर पेस्ट करके आराम से पता लगा सकते हैं कि उसमें लिखे गए कंटेंट कहाँ से कॉपी किए गए हैं।

Duplichecker से Plagiarism कैसे चेक करें ?

Duplichecker से आप फ्री में Plagiarism चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करने पड़ेंगे।

Duplichecker से Plagiarism कैसे चेक करें
Duplichecker Kya Hota Hai
  • सबसे पहले https://www.duplichecker.com वेबसाइट पर विजिट करें।
  • होमपेज पर आपको Plagiarism चेक करने के लिए एक बड़ा सा बॉक्स बना हुआ दिखाई देगा।
  • अगर आप अपने वेबसाइट पर कोई कंटेंट पब्लिश करने से पहले यह चेक करना चाहते हैं कि आपके कंटेंट में Plagiarism है कि नहीं तो आप पूरे कंटेंट को इस बॉक्स में पेस्ट करें।
  • कंटेंट पेस्ट करने के बाद Check Plagiarism पर क्लिक करें। इसके कुछ समय बाद Plagiarism का रिपोर्ट आ जाएगा।
  • अगर आप किसी पब्लिश्ड कंटेंट में Plagiarism चेक करना चाहते हैं तो उस लिंक को वहाँ पेस्ट करें और Check Plagiarism पर क्लिक करके रिपोर्ट देख सकते हैं।
  • अगर आपका कंटेंट किसी Txt, doc, pdf इत्यादि फ़ाइल में हो तो उसको भी आप यहाँ अपलोड करके Plagiarism चेक कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें –

निष्कर्ष

अगर आप भी अपने द्वारा लिखे गए कंटेंट में Plagiarism चेक करना चाहते हैं तो आप ऊपर बताए गए Duplichecker फ्री सर्विस टूल का प्रयोग कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here